Smajwadi News»

लखनऊ :-  यूपी चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन का ऐलान करने के ठीक बाद समाजवादी पार्टी ने 77 कैंडिडेट्स की अपनी तीसरी लिस्ट जारी कर दी है । इसके साथ ही एसपी ने अबतक कुल 286 नामों को ऐलान कर दिया है।  आपको बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश में सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को सुबह 191 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की थी । जबकि उसी दिन शाम को 18 नामों की एक दूसरी लिस्ट जारी करके एकदिन में कुल 209 सीटों पर कैंडिडेट्स का ऐलान किया था।  गठबंधन के बाद एसपी ने रायबरेली की पांच सीटों में से 2 सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी है । जबकि मुख्तार अंसारी के खिलाफ समाजवादी पार्टी ने अल्ताफ अंसारी को टिकट दिया है । आपको बता दें कि यूपी में एसपी का कांग्रेस के साथ 298+105 सीटों के फॉर्मूले के तहत गठबंधन हुआ है।  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी और कांग्रेस साथ मिलकर लड़ेंगे । एसपी जहां 298 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी, वहीं कांग्रेस 105 सीटों पर चुनाव लड़ेगी । इस तरह दोनों पार्टियां मिलकर विधानसभा की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी।  एसपी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की मौजूदगी में कहा कि सांप्रदायिक ताकतों से मुकाबले लिए एसपी-कांग्रेस के बीच गठबंधन हुआ है । उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियां एसपी नेता अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाए जाने पर सहमत हैं।  एक समय एसपी में रहे बॉलीवुड अभिनेता और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि गठबंधन का नेतृत्व एसपी से अखिलेश यादव और कांग्रेस से राहुल गांधी करेंगे। उन्होंने कहा कि गठबंधन जाति और धर्म की राजनीति से परे रहेगा ।

लखनऊ :- यूपी चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन का ऐलान करने के ठीक बाद समाजवादी पार्टी ने 77 कैंडिडेट्स की अपनी तीसरी लिस्ट जारी कर दी है । इसके साथ ही एसपी ने अबतक कुल 286 नामों को ऐलान कर दिया है। आपको बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश में सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को सुबह 191 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की थी । जबकि उसी दिन शाम को 18 नामों की एक दूसरी लिस्ट जारी करके एकदिन में कुल 209 सीटों पर कैंडिडेट्स का ऐलान किया था। गठबंधन के बाद एसपी ने रायबरेली की पांच सीटों में से 2 सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी है । जबकि मुख्तार अंसारी के खिलाफ समाजवादी पार्टी ने अल्ताफ अंसारी को टिकट दिया है । आपको बता दें कि यूपी में एसपी का कांग्रेस के साथ 298+105 सीटों के फॉर्मूले के तहत गठबंधन हुआ है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी और कांग्रेस साथ मिलकर लड़ेंगे । एसपी जहां 298 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी, वहीं कांग्रेस 105 सीटों पर चुनाव लड़ेगी । इस तरह दोनों पार्टियां मिलकर विधानसभा की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। एसपी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की मौजूदगी में कहा कि सांप्रदायिक ताकतों से मुकाबले लिए एसपी-कांग्रेस के बीच गठबंधन हुआ है । उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियां एसपी नेता अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाए जाने पर सहमत हैं। एक समय एसपी में रहे बॉलीवुड अभिनेता और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि गठबंधन का नेतृत्व एसपी से अखिलेश यादव और कांग्रेस से राहुल गांधी करेंगे। उन्होंने कहा कि गठबंधन जाति और धर्म की राजनीति से परे रहेगा ।

सैनिकों की शहादत के बाद शहीद के परिवार के लिए हर तरफ से मुआवजे का ऐलान होता है, लेकिन कम ही लोग जानते है कि मुआवजे के बंटवारे को लेकर कई बार शहीद के परिवार में कोहराम मच जाता है. इसका हल निकालते हुए उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार ने शहीद के मां-बाप को अलग से 5 लाख रुपये का मुआवजा देना शुरू किया है.  अखिलेश यादव ने शनिवार को पुलिस अधिकारियों की बैठक में कहा कि उनकी सरकार शहीद के माता-पिता को अलग से सहायता राशि दे रही है, गौरतलब है कि कुछ समय पहले शहीद हुए जवान के मुआवजे के लेने के लिए अधिकारियों के सामने ही शहीद का परिवार आपस में भिड़ गया था.  पत्नी को मिलता रहेगा 20 लाख का मुआवजा  अखिलेश बोले कि शहीद की पत्नी को दिए जाने वाला 20 लाख का मुआवजा वैसे ही मिलता रहेगा, यह सहायता राशि उससे अलग मां-बाप को मिलेगी. उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य है जो अलग से शहीदों के मां-बाप को भी सहायता की राशि दे रहा है.

सैनिकों की शहादत के बाद शहीद के परिवार के लिए हर तरफ से मुआवजे का ऐलान होता है, लेकिन कम ही लोग जानते है कि मुआवजे के बंटवारे को लेकर कई बार शहीद के परिवार में कोहराम मच जाता है. इसका हल निकालते हुए उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार ने शहीद के मां-बाप को अलग से 5 लाख रुपये का मुआवजा देना शुरू किया है. अखिलेश यादव ने शनिवार को पुलिस अधिकारियों की बैठक में कहा कि उनकी सरकार शहीद के माता-पिता को अलग से सहायता राशि दे रही है, गौरतलब है कि कुछ समय पहले शहीद हुए जवान के मुआवजे के लेने के लिए अधिकारियों के सामने ही शहीद का परिवार आपस में भिड़ गया था. पत्नी को मिलता रहेगा 20 लाख का मुआवजा अखिलेश बोले कि शहीद की पत्नी को दिए जाने वाला 20 लाख का मुआवजा वैसे ही मिलता रहेगा, यह सहायता राशि उससे अलग मां-बाप को मिलेगी. उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य है जो अलग से शहीदों के मां-बाप को भी सहायता की राशि दे रहा है.