Rashtriya Lok Dal News»

सीबीआई की ओर से जारी आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, इस मामले में कुछ बिंदुओं पर स्पष्टीकरण के लिए जांच एजेंसी की टीम सिसोदिया के घर गई थी। सीबीआई ने इसे छापेमारी बताए जाने का खंडन करते हुए कहा कि इसे 'छापामारी या छानबीन' नहीं कहा जा सकता है। सीबीआई ने 'टॉक टू एके' कार्यक्रम में एक निजी जनसंपर्क कंपनी को नियम विरुद्ध तरीके से लाभ पहुंचाने की पहल करने की शिकायत पर इस साल जनवरी में प्रारंभिक जांच (पीई) शुरू की थी।

सीबीआई की ओर से जारी आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, इस मामले में कुछ बिंदुओं पर स्पष्टीकरण के लिए जांच एजेंसी की टीम सिसोदिया के घर गई थी। सीबीआई ने इसे छापेमारी बताए जाने का खंडन करते हुए कहा कि इसे 'छापामारी या छानबीन' नहीं कहा जा सकता है। सीबीआई ने 'टॉक टू एके' कार्यक्रम में एक निजी जनसंपर्क कंपनी को नियम विरुद्ध तरीके से लाभ पहुंचाने की पहल करने की शिकायत पर इस साल जनवरी में प्रारंभिक जांच (पीई) शुरू की थी।

v

v