पीएम नरेंद्र मोदी | मेक इन इंडिया | ऐपल | ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर

अच्छी खबर»

अप्रैल में 'मेक इन इंडिया' से जुड़ेगा ऐपल, बेंगलुरु में शुरू होगी मैन्युफैक्चरिंग


अप्रैल में 'मेक इन इंडिया' से जुड़ेगा ऐपल, बेंगलुरु में शुरू होगी मैन्युफैक्चरिंग


बेंगलुरु :- पीएम नरेंद्र मोदी के 'मेक इन इंडिया' से जुड़ते हुए ऐपल भी अब भारत में ही आईफोन बनाने की तैयारी में है। कंपनी भारत के मार्केट के लिए बेंगलुरु में आईफोन बनाने का काम शुरू करने की योजना बना रही है। ऐपल के लिए OEM  यानी (ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर) का काम करने वाली ताइवान की कंपनी विस्ट्रॉन ने बेंगुलुरु के इंडस्ट्रियल हब कहे जाने वाले पीन्या में आईफोन की मैन्युफैक्चरिंग के लिए फैसिलिटी सेंटर का काम शुरू कर दिया है। इंडस्ट्री के सूत्रों के मुताबिक अप्रैल से यहां मैन्युफैक्चरिंग शुरू हो सकती है।


कंपनी के शीर्ष सूत्रों ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि ऐपल भारत में असेम्बलिंग ऑपरेशन को जल्द से जल्द शुरू करने को लेकर गंभीर है। इसके बाद वह अगले साल के अंतर तक पूरी तरह भारत में ही मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने की तैयारी में है। कंपनी के कई सूत्रों ने बताया, 'बेंगुलुरु के बारे में इसे लेकर गंभीरता से विचार किया जा रहा है।' कंपनी का मानना है कि स्थानीय स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग से वह कीमतों के मुकाबले में प्रतिस्पर्धियों को वह कड़ी टक्कर दे सकेगी।


ऐपल की सबसे बड़ी मैन्युफैक्चरिंग सहयोगी कंपनी फॉक्सकॉन ने इससे पहले महाराष्ट्र में प्लांट स्थापित करने की बात कही थी। कहा जा रहा था कि इस प्लांट में सिर्फ ऐपल के प्रॉडक्ट्स ही तैयार किए जाएंगे, लेकिन सूत्रों का कहना है कि फॉक्सकॉन ने श्याओमी और वन प्लस के साथ लोकल मैन्युफैक्चरिंग के लिए करार कर लिया है। ऐसे में यहां अब सिर्फ ऐपल के प्रॉडक्ट्स की मैन्युफैक्चरिंग नहीं होगी।


फिलहाल ऐपल को भारत में अपने प्रॉडक्ट्स बेचने के लिए 12.5 पर्सेंट की इंपोर्ट ड्यूटी चुकानी होती है। लोकल मैन्युफैक्चरिंग शुरू होने पर ऐपल को यह टैक्स नहीं देना होगा और वह अपेक्षाकृत कम कीमत पर भारत में स्मार्टफोन बेच सकेगा।

loading...