एसबीआई | स्टेट बैंक | पर्सनल लोन | यूनियन बैंक

अच्छी खबर»

स्टेट बैंक समेत तीन बैंकों ने घटाई ब्याज दरें, आज होम-ऑटो और पर्सनल लोन हो सकते हैं सस्ते


स्टेट बैंक समेत तीन बैंकों ने घटाई ब्याज दरें, आज होम-ऑटो और पर्सनल लोन हो सकते हैं सस्ते


होम लोन की ब्‍याज दरें छह साल के सबसे निचले स्‍तर पर आ गई हैं। देश के सबसे बड़े बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ(एसबीआई) ने ब्‍याज दर को 9.10 से घटाकर 8.6 प्रतिशत कर दिया है। एसबीआई ने रविवार(एक जनवरी) को अपनी विभिन्न परिपक्वता अवधि की बेंचमार्क लोन दरों(एमसीएलआर) में 0.9 प्रतिशत कटौती की घोषणा की थी। एसबीआई ने एक दिन के कर्ज के लिए ब्याज दर को 8.65 से घटाकर 7.75 प्रतिशत किया है। तीन साल की अवधि के लोन के लिए इसे 9.05 प्रतिशत से घटाकर 8.15 प्रतिशत किया गया है। बैंक ने एक महीने, तीन महीने, छह महीने तथा दो साल के कर्ज पर भी ब्याज दर में इसी अनुपात में कटौती की है। इसके चलते अब 75 लाख रुपये तक का होम लोन 8.6 प्रतिशत की दर पर लिया जा सकता है। इसके ऊपर के लोन पर रेट 8.65 प्रतिशत होगी। एसबीआई के अलावा यूनियन बैंक और पंजाब नेशनल बैंक ने भी दरों में कमी की है। माना जा रहा है कि आईसीआईसीआई बैंक भी जल्‍द ही दरों को कम कर सकता है।



एमसीएलआर में कटौती का मतलब है कि नए ग्राहकों को सस्‍ती दरों पर लोन मिलेगा। होम लोन एक साल की एमसीएलआर से जुड़ा हुआ है इसलिए रेट 12 महीनों के लिए लॉक हो जाती हैं। जिन लोगों ने पहले ही लोन ले रखा हैं उन्‍हें एक साल की अवधि पूरा होने के बाद ही फायदा मिलेगा। जिन लोगों ने भी अप्रैल 2016 से पहले लोन लिया है उन्‍हें पहले ही दरों पर ही ब्‍याज देना होगा। नई दरों का फायदा लेने के लिए उन्‍हें बैंक को फीस देनी होगी जिसके बाद उनका कॉन्‍ट्रेक्‍ट नया हो जाएगा। एसबीआई ने टीजर रेट लोन को फिर से शुरू किया है। इसके तहत पहले दो साल तक 8.5 प्रतिशत की दर पर ब्‍याज लगेगा लेकिन बाद में रेट फ्लोटिंग होगी। पांच साल पहले यह व्‍यवस्‍था हटा दी गई थी।


होम लोन में कमी का यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश के नाम संबोधन के एक दिन बाद आया है। प्रधानमंत्री ने 31 दिसंबर को बैंकों से गरीबों तथा मध्यम वर्ग पर विशेष ध्यान देने को कहा था। उन्होंने कहा था, ‘‘बैंकों की स्वायत्तता का सम्मान करते हुए मैं उनसे कहूंगा कि वे अपनी परंपरागत प्राथमिकताओं से आगे बढ़ते हुए गरीबों, निम्न मध्यम वर्ग तथा मध्यम वर्ग पर ध्यान दें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारत पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्मशती को गरीब कल्याण वर्ष के रूप में मना रहा है। बैंकों को इस अवसर को अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहिए। उन्होंने जनहित में तत्काल उचित फैसले करने चाहिए।’’ पीएम ने गरीबों को आवास के लिए ब्‍याज दरों में कमी का एलान भी किया था।

loading...