चटपटे समाचार»

रिलायंस इंडस्ट्रीज बनी देश की सबसे बड़ी कंपनी :- फोर्ब्स की 'ग्लोबल 2000' लिस्ट में सबसे टॉप पर



रिलायंस इंडस्ट्रीज बनी देश की सबसे बड़ी कंपनी :- फोर्ब्स की 'ग्लोबल 2000' लिस्ट में सबसे टॉप पर


मुंबई :- प्रतिष्ठित फोर्ब्स पत्रिका की इस साल की 'ग्लोबल 2000' सूची के हिसाब से मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड देश की सबसे बड़ी कंपनी है। सूची में पिछले साल के 56 की जगह 58 कंपनियों ने जगह बनाई है। फोर्ब्स के भारतीय संस्करण ने यहां गुरुवार को जारी एक बयान में कहा गया, "पिछले साल कंपनी द्वारा रिलायंस जियो इंफोकॉम को लॉन्च करने के बाद शेयर बाजार में रिलायंस इंडस्ट्रीज पर निवेशकों का भरोसा बढ़ा है।"

अमेरिकी पत्रिका ने कहा कि रैंकिंग चार मानदंडों-बिक्री, मुनाफा, संपत्ति तथा बाजार मूल्य पर आधारित है, जिसमें फोर्ब्स चारों को समान महत्व दे रहा है। सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) है, जो इस साल 244वें पायदान पर है, जबकि पिछले साल यह 149वें पायदान पर थी। वहीं सरकारी तेल उत्खनन कंपनी ओएनजीसी 246वें पायदान पर है, जो पिछले साल 220वें पायदान पर थी।

सूची में तीन और बैंकों को जगह मिली हैं, जिनमें एचएडएफसी बैंक 258वें पायदान पर, आईसीआईसीआई 31वें पायदान पर, एक्सिस बैंक 463 पायदान पर जबकि कोटक महिंद्रा बैंक 744वें पायदान पर है। भारतीय कंपनियों में टाटा छठे पायदान पर है, जबकि वैश्विक स्तर पर यह 290वें पायदान पर है, जबकि पिछले साल यह 278वें पायदान पर थी।

वैश्विक स्तर पर चीन तथा अमेरिका की कंपनियां शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में शुमार हैं। साल 2017 की सूची में लगातार पांचवें साल चीन का इंडस्ट्रियल एंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना पहले पायदान पर है, जबकि चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक दूसरे पायदान पर है। चीन के दो अन्य बैंक-एग्रीकल्चर बैंक ऑफ चाइना तथा बैंक ऑफ चाइना शीर्ष 10 की सूची में शामिल हैं।

अमेरिका की जनरल इलेक्ट्रीक 14वें पायदान पर पहुंच गई है, जबकि पिछले साल यह 68वें पायदान पर थी, वहीं ई-कॉमर्स कंपनी एमेजन पिछले साल के 237वें पायदान की तलना में इस साल 83वें पायदान पर पहुंच गई है।

मुंबई: प्रतिष्ठित फोर्ब्स पत्रिका की इस साल की 'ग्लोबल 2000' सूची के हिसाब से मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड देश की सबसे बड़ी कंपनी है। सूची में पिछले साल के 56 की जगह 58 कंपनियों ने जगह बनाई है। फोर्ब्स के भारतीय संस्करण ने यहां गुरुवार को जारी एक बयान में कहा गया, "पिछले साल कंपनी द्वारा रिलायंस जियो इंफोकॉम को लॉन्च करने के बाद शेयर बाजार में रिलायंस इंडस्ट्रीज पर निवेशकों का भरोसा बढ़ा है।"

अमेरिकी पत्रिका ने कहा कि रैंकिंग चार मानदंडों-बिक्री, मुनाफा, संपत्ति तथा बाजार मूल्य पर आधारित है, जिसमें फोर्ब्स चारों को समान महत्व दे रहा है। सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) है, जो इस साल 244वें पायदान पर है, जबकि पिछले साल यह 149वें पायदान पर थी। वहीं सरकारी तेल उत्खनन कंपनी ओएनजीसी 246वें पायदान पर है, जो पिछले साल 220वें पायदान पर थी।

सूची में तीन और बैंकों को जगह मिली हैं, जिनमें एचएडएफसी बैंक 258वें पायदान पर, आईसीआईसीआई 31वें पायदान पर, एक्सिस बैंक 463 पायदान पर जबकि कोटक महिंद्रा बैंक 744वें पायदान पर है। भारतीय कंपनियों में टाटा छठे पायदान पर है, जबकि वैश्विक स्तर पर यह 290वें पायदान पर है, जबकि पिछले साल यह 278वें पायदान पर थी।

वैश्विक स्तर पर चीन तथा अमेरिका की कंपनियां शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में शुमार हैं। साल 2017 की सूची में लगातार पांचवें साल चीन का इंडस्ट्रियल एंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना पहले पायदान पर है, जबकि चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक दूसरे पायदान पर है। चीन के दो अन्य बैंक-एग्रीकल्चर बैंक ऑफ चाइना तथा बैंक ऑफ चाइना शीर्ष 10 की सूची में शामिल हैं।

अमेरिका की जनरल इलेक्ट्रीक 14वें पायदान पर पहुंच गई है, जबकि पिछले साल यह 68वें पायदान पर थी, वहीं ई-कॉमर्स कंपनी एमेजन पिछले साल के 237वें पायदान की तलना में इस साल 83वें पायदान पर पहुंच गई है।


loading...