अपराध समाचार»

लखनऊ में ‌दिन-दहाड़े लूटा 85 लाख का सोना, 11 दिन बाद दर्ज हुई एफआईआर

लखनऊ में ‌दिन-दहाड़े लूटा 85 लाख का सोना, 11 दिन बाद दर्ज हुई एफआईआर


लखनऊ  :- हनुमान सेतु पर बाइक सवार बदमाशों ने दिन-दहाड़े सराफा कारोबारी से 85 लाख रुपये का तीन किलो सोना लूट लिया। पीड़ित 29 दिसंबर को हुई इस सनसनीखेज वारदात की रिपोर्ट दर्ज कराने पीड़ित महानगर कोतवाली पहुंचा तो उसे टरका दिया गया।
पुलिस उसे एक थाने से दूसरे थाने तक चक्कर लगवाती रही। कई दिन तक भटकने के बाद सराफा कारोबारी ने एसएसपी मं‌जिल सैनी से मिलकर गुहार लगाई।


एसएसपी ने महानगर इंस्पेक्टर शैलेंद्र कुमार सिंह को फटकार लगाते हुए तत्काल एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। आखिरकार वारदात के 11वें दिन रविवार को पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। बदमाशों की तलाश के लिए क्राइम ब्रांच, सर्विलांस सहित पुलिस की चार टीमें लगाई गई हैं।


एसएसपी ने बताया कि चौक के पुष्पांजलि ज्वैलर्स के मालिक व विकासनगर सेक्टर 14 निवासी दाताराम वर्मा के शोरूम में 29 दिसंबर को अभिषेक नाम का युवक आया और एक अधिकारी का नाम लेते हुए तीन किलो सोना खरीदने की बात कही।


उस वक्त शोरूम में दाताराम का भांजा आकाश और कर्मचारी मोनू, विक्की व मोहसिन थे। अभिषेक ने सोने की डिलीवरी के लिए हनुमान सेतु मंदिर के पास आने को कहा। आकाश ने दाताराम को फोन करके बड़े सौदे की जानकारी दी तो वह भी शोरूम आ गए।
भांजे, तीनों कर्मचारियों और अभिषेक के साथ सोना लेकर दाताराम हनुमान सेतु पहुंचे। वहां उपेंद्र प्रताप ने उन्हें माल दिखाने की बात कही। दाताराम ने वहां भीड़ होने की बात कही तो दोनों ने उन्हें यूको बैंक की यूनिवर्सिटी शाखा के पास चलने को कहा।


वहां पहुंचने पर उपेंद्र कैश के बदले डिमांड ड्राफ्ट थमाने लगा। दाताराम ने डिमांड ड्राफ्ट लेने से मना करते हुए उन्हें शोरूम चलने को कहा। इस पर दोनों युवक बहस और धक्का-मुक्की करने लगे।
बकौल एसएसपी, बदमाशों ने दाताराम से सोने से भरा बैग छीन लिया और लखनऊ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल की तरफ भाग गए। दाताराम ने शोर मचाया, लेकिन बदमाशों को पकड़ा नहीं जा सका।


पुलिस ने बताया कि सर्राफ से सोने से भरा बैग छीनने के दौरान हुई हाथापाई में एक बदमाश का मोबाइल फोन गिर पड़ा। हालांकि, इस बीच उसके हाथ सोने वाला बैग आ गया और बदमाश मोबाइल फोन छोड़कर भाग गए।

loading...