ताजा समाचार»

500 के पुराने नोट का आज आखिरी दिन, इसके बाद सिर्फ बैंकों में होंगे जमा

500 के पुराने नोट का आज आखिरी दिन, इसके बाद सिर्फ बैंकों में होंगे जमा


नई दिल्ली : यदि अब भी आपके पास 500 रुपये के पुराने नोट रखे हैं तो उन्हें गुरुवार रात (15 दिसंबर) 12 बजे तक इस्तेमाल कर लें अन्यथा इसके बाद ये नोट कहीं भी स्‍वीकार्य नहीं किए जाएंगे। आज मध्य रात्रि के बाद आप इन्हें सिर्फ बैंकों में ही जमा कर पाएंगे।
बिजली बिल या दवा खरीदने के लिये 500 रुपये के पुराने नोट गुरुवार मध्यरात्रि तक ही उपयोग किया जा सकता है। सरकार ने 15 दिसंबर के बाद इसके लिये समयसीमा नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। साथ ही पुराने नोट से मोबाइल रिचार्ज सुविधा भी उपलब्ध नहीं होगी। हालांकि लोग पुराने 500 रुपये के नोट बैंक खातों में जमा कर सकते हैं। अभी तक 500 रुपए का पुराना नोट दवा की दुकानों और जन-उपयोगी सेवाओं भुगतान करने के लिए मान्य है। इसके अलावा, 500 का पुराना नोट सरकारी पेट्रोल पंप, सरकारी बसों, मेडिकल स्टोर, श्मशान घाट, बिजली का बिल जमा करने में, सहकारी स्टोर, एयरपोर्ट और मेट्रो स्टेशन पर टिकट और पास बनाने के लिए उपयोग हो रहा है।
आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास के अनुसार, पुराने 500 रुपये के नोट के उपयोग को लेकर मिली छूट 15 दिसंबर की मध्यरात्रि से समाप्त हो जाएगी। इसका मतलब है कि 15 दिसंबर के बाद यह नोट पूरी तरह रद्द हो जायेगा। किन्तु यह सिर्फ बैंको में स्वीकृत होंग।  सरकार पहले ही रेलवे या विमान टिकटों तथा पेट्रोल पंपों पर भुगतान एवं टोल प्लाजा पर पुराने 500 रुपये के भुगतान की छूट को वापस ले लिया है।

सरकार ने 500 रुपये के पुराने नोट के इस्तेमाल की 15 दिसंबर तक छूट दे रखी थी और गुरुवार के बाद यह नोट 30 दिसंबर तक किसी भी बैंक में जाकर जमा करवा सकते हैं। वहीं 30 दिसंबर के बाद 500 और 1000 का पुराना नोट केवल रिजर्व बैंक में ही जमा होगा। हालांकि अगर 15 दिसंबर के बाद भी किसी के पास 500 रुपए का पुराना नोट रह जाता है तो वो उसे बैंक में जमा कर सकता है। बैंक में पुराने नोट जमा करने की अंतिम तारीख सरकार ने 30 दिसंबर तय कर रखी है।

सरकार की ओर से पेट्रोल पंप, रेलवे, सरकारी बसों, एयरपोर्ट और मेट्रो पर भी 500 के पुराने नोटों का चलन बंद किए जा चुके हैं। गुरुवार तक ही सरकारी अस्पताल, दवा दुकानों, फार्मेसी, रेलवे टिकट काउंटरों पर टिकट लेने, रेल यात्रा के दौरान कैटरिंग सेवाओं में, सहकारी भंडार से 5 हजार रुपये तक का सामान, मिल्क बूथ, राज्य बसों में सफर के दौरान, श्मशान घाट/कब्रिस्तान, एलपीजी सिलेंडर, स्मारकों के टिकट में 500 के पुराने नोट उपयोग किए जा सकते हैं। इसके अलावा, स्थानीय निकायों के बिल-जुर्माना, घर का बिजली/पानी का बिल, सब-अर्बन, मेट्रो रेल सर्विसेज की टिकट खरीद, मेट्रो कार्ड रिचार्ज कोर्ट फीस, सरकारी दुकानों से बीज, सरकारी स्कूलों की दो हजार रुपए तक की फीस, सरकारी कॉलेजों की फीस, 500 रुपये तक का प्रीपेड मोबाइल रिचार्ज और टोल प्लाजा पर पुराने 500 के नोट कल रात तक चलेंगे। साथ ही, केंद्र, राज्य, म्युनिसिपल व लोकल बॉडीज में फीस, चार्जेज, टैक्सेज, जुर्माना भरने के लिए, यूटिलिटी चार्जेज जैसे पानी, बिजली का बिल। हालांकि इन्हें किसी भी तरह से अडवांस में भरने के लिए नोट मान्य नहीं हैं।

 सरकार ने आठ नवंबर को 500 और 1,000 रुपये के नोटों पर पाबंदी लगाते हुए पहले 72 घंटों तक उपयोगी सेवाओं के बिलों के भुगतान के लिये पुराने नोटों के उपयोग की अनुमति दी थी। बाद में इस समय-सीमा को बार-बार बढ़ाया गया और अंतिम बार छूट 15 दिसंबर तक दी गई। इससे पहले, सरकार ने 24 नवंबर को 1000 रुपये के पुराने नोट को चलन से बाहर कर दिया था। 30 दिसंबर के बाद 500 और 1000 का पुराना नोट केवल रिजर्व बैंक में ही जमा होगा।

loading...