ताजा समाचार»

आज से शुरू हुआ राजधानी लखनऊ में सफाई का टेस्ट

आज से शुरू हुआ राजधानी लखनऊ में सफाई का टेस्ट


लखनऊ :- शहर कितना साफ है, सफाई के मानकों पर हम और नगर निगम कितने खरे हैं ? ऐसे कई सवालों के जवाब क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया की 3 सदस्यीय टीम बुधवार से शनिवार तक तलाशेगी। स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) के तहत एक लाख और इससे अधिक आबादी वाले 500 शहरों में राजधानी किस नंबर पर टिकती है, यह भी इसी से पता चलेगा। मंगलवार को टीम के दौरे से एक दिन पहले नगर निगम के अफसर चिह्नित किए गए इलाकों में मुस्तैद रहे। अफसरों को उम्मीद है कि नंबरों की रेस में राजधानी अच्छा करेगी, क्योंकि पिछले साल 73 शहरों के बीच राजधानी 28वें नंबर पर थी।

सुबह से ही जोनल और इंजिनियरिंग विभाग के अधिकारी-कर्मचारी अमीनाबाद, हजतरगंज, चौक, पत्रकापुरम, भूतनाथ, तेलीबाग, चारबाग और यहियागंज को चमकाने में जुटे रहे। जेसीबी और डंपरों की मदद से कूड़ाघरों को साफ किया गया। हुसैनगंज स्थित कूड़ाघर से दिन में 3 बार कूड़ा उठाया गया। यहां पर कई दिन से कूड़ा नहीं उठाया गया था। हुसैनगंज में रहने वाले प्रवीण अवस्थी के मुताबिक यहां की बदबू से पूरा मोहल्ला परेशान रहता है। रोजाना ऐसी ही सफाई हो तो बेहतर रहता। अफसरों ने शाम को भी पत्रकारपुरम, अमीनाबाद और यहियागंज में सफाई करवाई।

चारबाग स्टेशन के आसपास के इलाके को भी देखने अधिकारी जाएंगे। इसके बाद भी नगर निगम ने स्टेशन के पास के इलाकों और कूड़ाघर की सफाई नहीं करवाई। यही हाल वन विभाग मुख्यालय, लालबाग और चिड़ियाघर के आसपास भी रहा। चौपड़ अस्पताल के पास से दोपहर 2 बजे तक कूड़ा नहीं उठा। हालांकि, कैसरबाग बस अड्डे और चारबाग बस स्टॉप के आसपास सफाई हुई। मेयर के घर से 500 मीटर की दूरी पर एलयू के ट्रांजिट गेस्ट हाउस के पास से कूड़ा शाम तक नहीं उठा था।

loading...