ताजा समाचार»

तेज रफ्तार कार ने लखनऊ की सड़कों पर मचाया कोहराम

तेज रफ्तार कार ने लखनऊ की सड़कों पर मचाया कोहराम


लखनऊ :- हजरतगंज में शनिवार रात कार से पांच लोगों की मौत का मामला अभी ठंडा नहीं हुआ था कि सोमवार शाम एक महिला की बेकाबू कार ने पॉश इलाके में बाइक सवार समेत चार लोगों को टक्कर मार दी। जिसमें बाइक सवार मस्जिद के पेश इमाम गंभीर रूप से घायल हो गए। आस-पास लोग इकट्ठा हो गए। कार लेकर भाग रही महिला को घेरकर पकड़ लिया। महिला की पैरवी में कई लोग पहुंचे। इस बीच उनके बीच काफी विवाद हुआ।
सूचना के बाद पुलिस पहुंची और घायल को सिविल अस्पताल पहुंचवाया। महिला को कोतवाली लाया गया। एसएसआई हजरतगंज दुर्गादत्त सिंह ने बताया कि कार चला रही महिला महानगर के एक बिल्डर की पत्नी हैं। कार की टक्कर से चोटिल हुए लोगों ने महिला से सुलह-समझौता कर लिया। किसी ने रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर नहीं दी।


प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि कार काफी तेज रफ्तार में थी। बटलर पैलेस कॉलोनी चौराहा पर कार की टक्कर से बाइक सवार दो लोग जख्मी हो गए। इससे बचकर महिला वाहन सहित भागने लगी। कार ने एक साइकिल सवार को टक्कर मार दी। इसके बाद महिला ने फिर रफ्तार तेज कर दी। हड़बड़ाट में महिला ने मदन मोहन मालवीय मार्ग पर मोहम्मद असद के फल के ठेले में टक्कर मार दी। जिससे फल सड़क पर बिखर गए। हालांकि असद बाल-बाल बच गए। इस बीच सामने से आ रहे अशोक मार्ग स्थित मस्जिद के पेश इमाम मोहम्मद फरीद की बाइक में सामने से टक्कर मार दी। फरीद छिटक कर सड़क पर गिर गए और चोटिल हो गए।


लोगों ने बताया कार की रफ्तार काफी तेज थी। सड़क किनारे खड़ी सेतु निगम के स्टेनो कुणाल की कार में टक्कर लगने के बाद कार रुक गई। लोगों ने महिला को घेर लिया। इस बीच महिला की पैरवी वाले पहुंच गए। भीड़ उनसे भी उलझ गई। पुलिस के पहुंचने पर भी उनके बीच विवाद हुआ। लोगों का कहना है कि खड़ी कार में टक्कर लगने के बाद महिला की कार न रुकती तो शायद वह और लोगों को भी कुचल देती।


हजरतगंज कोतवाली में महिला की बहन, बहनोई और अन्य लोग पहुंचे। पुलिस ने महिला को कोतवाली में बैठा लिया। महिला के बचाव में आए लोगों ने कोतवाली में तयतोड़ शुरू कर दिया। कुणाल की कार काफी क्षतिग्रस्त हो गई। लिहाजा उसे मुआवजा दिलाने की बात कही। इस पर कुणाल तैयार हो गया। मोहम्मद फरीद ने महिला के खिलाफ तहरीर दी है।


महिला ने पुलिस को बताया कि उसकी कार सिर्फ दो की स्पीड में थी। इतनी स्पीड में कोई घायल कैसे हो सकता है? उसने पुलिस को तर्क दिया कि आठ साल पहले उसका ड्राइविंग लाइसेंस बना था। वह पिछले छह सात सालों से कार ड्राइव कर रही हैं। बहन का कहना है कि कार बैक करते हुए वक्त मोहम्मद फरीद की बाइक में टक्कर लगी थी।

loading...