एजुकेशन समाचार»

आईसीएसई बोर्ड ने जारी किए 10वीं और 12वीं के नतीजे ।

आईसीएसई बोर्ड ने जारी किए 10वीं और 12वीं के नतीजे ।


द काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जाम (सीआईएससीई) ने बारहवीं और दसवीं दोनों कक्षाओं के परीक्षा परिणाम आज घोषित कर दिए. दसवीं की परीक्षा में इस वर्ष ओडिशा के अभिनीत परीचा 99.2% अंकों के साथ शीर्ष स्थान पर हैं.

दूसरे स्थान पर 99% अंक के साथ चार विद्यार्थी हैं. बेंगलुरू से सुदर्शन आर, मुंबई से ईशा शेट्टी, कांदीवली से मनन मनीष शाह और लखनउ से ज्योत्सना श्रीवास्तव. तीसरे स्थान पर 98.8% अंक के साथ 10 विद्यार्थी रहे.

12वीं कक्षा में 99.75% अंक के साथ मुंबई की आद्या मादी पहले स्थान पर रही. मुंबई की ही मानसी गुग्गल 99.50% अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहीं जबकि कोलकाता के अर्कादेब सेनगुप्ता और कविता देसाई 99.25% अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे.

इस वर्ष 12वीं में जहां 96.46% विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं वहीं 10वीं में 98.5% विद्यार्थियों को सफलता मिली है. आज घोषित हुए परीक्षा परिणाम के अनुसार, लड़कियों ने एक बार फिर लड़कों से बाजी मार ली है.

काउंसिल ने पहली बार लाइव लिंक कैरेक्टर रेकोग्निशन (एलआईसीआर) तकनीक का प्रयोग किया है जिससे परिणाम जल्दी संकलित करने में मदद मिली है और उनकी घोषणा अन्य वषरें के मुकाबले दो सप्ताह पहले हो सकी है.

काउंसिल के सीईओ गेरी एराथून का कहना है कि आईसीएसई (10वीं), आईएससी (12वीं) परीक्षा 2015 में उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थियों की संख्या पिछले वर्षों के मुकाबले कुछ ज्यादा है. पिछले वर्ष के मुकाबले 10वीं में 0.01% और 12वीं में 0.18% ज्यादा विद्यार्थी सफल हुए हैं.

जो छात्र परीक्षा में अच्छे नंबरों से पास होंगे उन्हें यह बात हमेशा अपने जेहन में रखनी होगी कि यह महज एक शुरुआत है आपके उन्नत और उज्जवल भविष्य की. इसके अलावा जिन छात्रों का रिजल्ट उम्मीद के मुताबिक नहीं आया उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है.

उन छात्रों को यह समझना होगा कि आपने जो लिखा उसके लिए आपके अंक मिले लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि आपके अंदर कुछ बड़ा करने की काबिलियत नहीं है. आपको परीक्षा में मिले अंक आपको उज्जवल भविष्य बनाने से नहीं रोक सकते.

loading...