एजुकेशन समाचार»

टॉपर ने कहा-पॉलिटिकल साइंस में पढ़ाया जाता है खाना बनाना, फिर देनी होगी परीक्षा

टॉपर ने कहा-पॉलिटिकल साइंस में पढ़ाया जाता है खाना बनाना, फिर देनी होगी परीक्षा


बिहार में स्कूल एजुकेशन में करप्शन का बड़ा मामला सामने आया है। दरअसल, आर्ट्स टॉपर रूबी राय और साइंस टॉपर सौरभ श्रेष्ठ से मीडिया ने सब्जेक्ट से जुड़े सवाल पूछ लिए। कोई भी सही जवाब नहीं दे पाया। कितने नंबर का एग्जाम हुआ है, रूबी को तो यह भी पता नहीं है। बात इतनी बढ़ी कि बिहार स्कूल एग्जाम कमेटी ने पहली बार ये फैसला किया है कि इस बार के इंटर टॉपर्स का इंटरव्यू लिया जाएगा। एजुकेशन मिनिस्टर ने कहा- कार्रवाई होगी...
- एजुकेशन बोर्ड की एक कमेटी यह इंटरव्यू लेगी। इंटर के तीनों फैकल्टी यानी आर्ट्स, साइंस और कॉमर्स के टॉप-5 स्टूडेंट्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया गया है। - बोर्ड के चेयरमैन प्रो. लालकेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि इसमें फेल होने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उनके रिजल्ट भी रद्द होंगे। - एजुकेशन मिनिस्टर अशोक चौधरी के आदेश के बाद बोर्ड चेयरमैन ने मंगलवार को टॉपर्स की कॉपी मंगवाने के ऑर्डर दिए। कॉपियों की जांच स्पेशल टीम करेगी। हफ्ते भर में कार्रवाई होगी। - ये हाल तब है जब टॉपर्स की कॉपी की जांच कई लेवल पर होती है। उसके बाद ही मेरिट लिस्ट बनती है। इस सवाल पर कि ये फर्जीवाड़ा हुआ कैसे, बोर्ड चेयरमैन बोले कि कॉपी में जो लिखा था, उसके बेस पर अंक दिए गए हैं। नकल रोकना डीएम का काम है।
रूबी के पिता बोले- प्रिंसिपल से मैंने तो ध्यान रखने कोे कहा था, उन्होंने तो टॉपर ही बना दिया- इंटर आर्ट्स में पूरे बिहार में अव्वल आई रूबी राय के पिता रिटायर्ड फौजी अवधेश राय ने माना कि वह पढ़ने में साधारण है। टॉपर बनने लायक नहीं है। रूबी 276 नंबर लाकर सेकंड डिवीजन से मैट्रिक पास हुई थी। - उसके पिता बोले- "कॉलेज के प्रिंसिपल अमित कुमार उर्फ बच्चा बाबू से बेटी पर थोड़ा ध्यान देने के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने मेरी बेटी को टॉपर ही बना दिया। अगर रूबी जिला टॉपर होती तो इतना विवाद नहीं होता। बिहार टॉपर बनने के बाद से ही वे परेशान हैं। लेकिन इस प्रकरण में मेरा कोई दोष नहीं है।" - राय ने कहा, "रिटायर होने के बाद वे घर पर रहकर बच्चों की परवरिश करते हैं।" - रूबी ने गांव के ही एक कॉन्वेंट से प्राइमरी और मिडल एजुकेशन हासिल किया, फिर शंभूपुर कोआरी हाईस्कूल से मैट्रिक पास किया। इंटर में विशुन राय कॉलेज में दाखिला लिया और रोज पढ़ने जाया करती थी।

loading...