कांग्रेस | पंजाब चुनावों की घोषणा | नवजोत सिंह सिद्धू | राहुल गांधी से मुलाकात का कार्यक्रम

राजनीति समाचार»

आज कांग्रेस की पिच पर बैटिंग के लिए उतर सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू

आज कांग्रेस की पिच पर बैटिंग के लिए उतर सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू

नई दिल्‍ली: पंजाब चुनावों की घोषणा के साथ ही सबकी निगाहें अब नवजोत सिंह सिद्धू के अगले कदम पर टिकी हैं ।  अनुमान लगाया जा रहा है कि आज सिद्धू के राहुल गांधी से मुलाकात का कार्यक्रम है ।  इसलिए अंदाजा लगाया जा रहा हैं कि आज वह कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं ।  उनकी पत्‍नी नवजोत कौर पहले ही कांग्रेस का दामन थाम चुकी हैं ।

दरअसल बीजेपी के इस्‍तीफा देने के बाद पिछले कई महीनों से सिद्धू के अगले कदम के बारे में अटकलें लगाई जाती रही हैं। लेकिन सिद्धू ने अभी तक अपने पत्‍ते नहीं खोले हैं । 
सिद्धू के बीजेपी छोड़ने से पार्टी को झटका भी माना जा रहा है ।  दरअसल पंजाब में सिद्धू ही बीजेपी के बड़े चेहरे के रूप में गिने जाते थे ।  लेकिन उनकी बादल परिवार से अनबन के कारण वह पंजाब बीजेपी में वह स्‍थान नहीं पा सके, जिसके लिए वह खुद को दावेदार मानते रहे हैं. माना जाता है कि अकाली दल के दबाव की वजह से ही पंजाब में बीजेपी ने उनको प्रदेश अध्‍यक्ष नहीं बनाया ।  पंजाब में अकाली दल और बीजेपी का गठबंधन है । 
दूसरी बड़ी वजह 2014 के लोकसभा चुनावों में उनकी जगह अमृतसर सीट से बीजेपी ने अरुण जेटली को उतार दिया ।  उससे सिद्धू उस सीट से चुनाव लड़कर जीतते रहे हैं ।  कांग्रेस के कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने जेटली को हरा भी दिया ।  बीजेपी का मानना है कि सिद्धू ने जेटली के पक्ष में पर्याप्‍त प्रचार नहीं किया और वहीं सिद्धू का मानना है कि पार्टी ने उनके कद के हिसाब से उनको मौका नहीं दिया ।  हालांकि पार्टी ने उनको राज्‍यसभा में भेजा लेकिन पिछले साल उन्‍होंने यह कहते हुए वहां से इस्‍तीफा दे दिया कि वह पंजाब के लोगों की सेवा करना चाहते हैं । 


बीजेपी से नाता टूटने के बाद उनके आम आदमी पार्टी (आप) में जाने की अटकलों का बाजार गरम रहा ।  दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इसकी पुष्टि की. बाद में तो केजरीवाल ने यह भी कहा कि जीतने की स्थिति में सिद्धू को उपमुख्‍यमंत्री पद का ऑफर दिया गया था ।  लेकिन कुल मिलाकर सिद्धू की बात वहां नहीं बनी ।  उसके बाद उन्‍होंने अपना एक मोर्चा भी बनाया लेकिन कुछ समय पहले पत्‍नी नवजोत कौर और इस मंच के साथी कांग्रेस में शामिल हो गए ।  उसके बाद से ही यह माना गया कि वह कांग्रेस में जा सकते हैं ।

कांग्रेस ने चुनावों में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को चेहरा तो बनाया है लेकिन मुख्‍यमंत्री पद का उम्‍मीदवार घोषित नहीं किया है ।  ऐसे में सिद्धू के कांग्रेस में जाने के राजनीतिक विश्‍लेषक सियासी मायने भी निकाल रहे हैं ।  कांग्रेस ने फिलहाल अमृतसर सीट उनकी पत्‍नी नवजौत कौर को चुनाव लड़ने के लिए दी है ।  माना जा रहा है कि शामिल होने की स्थिति में सिद्धू यहां से अपनी किस्‍मत आजमा सकते हैं । 

loading...