मां का शैतानी रूप | ममता शर्मसार | शबनम | स्वाति मालीवाल

शर्म नाक समाचार»



मां बनी हैवान, डेढ़ साल के मासूम बच्चे को बेरहमी से पीटा।


ममता की देवी कही जाने वाली एक मां ने हैवानियत की सभी हदें पार कर दीं। मासूम के सर की छांव कही जाने वाली मां ने ही उसके सिर पर जख्म दिए। राजधानी में माँ शब्द को शर्मसार करने वाली ऐसी ही मां का मामला सामने आया है। डेढ़ साल के मासूम बेटे को बेरहमी से पीटने वाली। इस मां का शैतानी रूप आप देख नहीं सकेंगे। फिलहाल इस मां के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है।

गीता कॉलोनी में रहने वाली तीन बच्चों की मां शबनम अपने सबसे छोटे डेढ़ साल के बेटे को अक्सर ऐसे ही पिटती थी। घरवाले इसकी शिकायत लेकर कई विभागों में गए तो उन्हें डांङते फटकारते भगा दिया जाता। साथ ही कहा कि कोई मां अपने बच्चे को इस कदर नहीं पीट सकती, जैसे बताया जा रहा है। लिहाजा बच्चे की हालत पर दहाड़ें मारकर रोती दादी और बुआ ने सबूत जुटाने के लिए घर में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए। जिसमें कैद हुई घटना ने सभी के रोंगटे खड़े कर दिए।
सीसीटीवी फुटेज में सीढ़ियों पर बच्चे को बिठाकर देखती मां अचानक हमलावर हो जाती थी।  और अचानक शांत बैठे बच्चे को पीटने लगाती। फिर मां ने बच्चे को उठाकर नीचे पटक दिया। फिर चप्पल उठाकर पहले उसके सिर और पीठ पर लगातार हमला किया। जानवरों की तरह पीटने के बाद भी मां को सब्र न हुआ तो मासूम को नीचे डालकर लातों से वार करती रही। कुछ देर तक चले इस भीषण घटनाक्रम के बाद बच्चे की बुआ लहूलुहान बच्चे को गोद में भरकर ले गई।

इस सीसीटीवी फुटेज को लेकर बच्चे की दादी दिल्ली महिला आयोग पहुंची और बच्चे को बचाने की गुहार लगाई। दादी ने आयोग को बताया कि महिला इसी प्रकार बच्चे को लंबे समय से मार रही है। मामले पर तत्काल संज्ञान लेते हुए दिल्ली महिला आयोग ने अपनी काउंसिलर्स के साथ मासूम की दादी और बुआ को दिल्ली पुलिस के पास भेजा। बेरहम मां के खिलाफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है और मामले की जांच की जा रही है।

इस घटनाक्रम पर दिल्ली महिला आयोग ने डेढ़ साल के बच्चे के अलावा उस मां के अन्य दो बच्चों के लिए दिल्ली पुलिस से सुरक्षा की मांग की है। साथ ही तीनों बच्चों को पुलिस तहकीकात होने तक मां से न मिलने देने के लिए भी कहा है। आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि महिला की मानसिक स्थिति के बारे में भी नहीं मालूम है। ऐसे में उसके अन्य दो बच्चों को भी खतरा हो सकता है। वहीं आयोग अपनी काउंसिलर भेजकर मामले की जानकारी लेने के साथ ही अन्य बच्चों के साथ कहीं दरिंदगी न हुई हो इसकी जांच में लग गई है।


 





 

loading...